अनीस इब्राहिम : दावुद का बिगड़ा भाई या डी कंपनी का अलगा वारिस

एक ऐसा लड़का जो अपने बड़े भाइयो के साथ बिना किसी किन्तु परंतु के साथ खड़ा रहा। जो वो करते थे वो उसमे शामिल था। इन भाइयोने मुंबई मे एक ऐसा गिरोह बनाया जिसमे उस लड़के के शातिर दिमाग का भी क्रेडिट था… आज इन भाइयो के गिरोह को दुनिया के नामचीन गिरोहोमेसे एक जाना जाता हे और 5000 से अधिक गुर्गे अनेक प्रकार से इस गिरोह से जुड़े हुये हे। कहा जाता हे की इन सभी के दिन का कामकाज तय करता हे अनीस इब्राहिम कासकर। आज की कहानी इसी अनीस इब्राहिम के बारे मे, जिसे डी कंपनी का अगला सरगना कहा जाता हे।

दाऊद के पिता पुलिस मे थे, ये काफी लोगो को पता हे पर बहोत सारे लोगो को पता नहीं होगा की दाऊद इब्राहिम को 7 भाई थे। इन सात भाईयोमे सबसे बड़े और खतरनाक थे साबिर इब्रहीम, पर एक मुठभेड़ मे सबीर को मन्या सुर्वे रात मे पेट्रोल पंप के नज़दिन मार देता हे। दावुद के बाकी भाई ज़्यादातर डी कंपनी के कामो से दूर हे और सिर्फ एक अनीस ही हे जो उसके कामो मे पूरी तरह से शामिल हे। इसी वजह से उसे ही दाऊद के काले कारोबारों का अगला वारिस माना जाता हे, पर अनीस और डी कंपनी के ताज के बीच मे एकही आदमी हे… और वो हे छोटा शकील। छोटा शकील अपने आप को दाऊद का उत्तराधिकारी समझता हे। डी कंपनीमे दावुद के अलावा सिर्फ शकील ही हे जो अनीस को ‘अनीस’ कहकर बुलाता हे।

मुंबई के एक छोटे से गिरोह के रूप मे शुरवात हुई D कंपनीने अब भारत सहित अनेकों देशो मे अपने पैर पसार रख्खे हे। कंपनी मे शुरवाती दिनो मे हथियार पुहचाने का काम और पैसो का काम अनीस ही देखा करता था। मुंबई मे अनीस के ऊपर अबतक 2 दर्जनसे भी अधिक मामले दर्ज हे।

अनीस इब्रहीम के बारे मे इस किस्सा काफी प्रसिद्ध हे। कहा जाता हे, संजय दत्त जब अपनी फिल्म ‘यलगार’ के शूटिंग मे था, संजय दत्त के तब डी कंपनी से रिश्ते थे। संजय और अनीस तब काफी करीबी थे इसी कारण संजय दत्त ने अनीस से अपने लिए कुछ बंदुके मांगी थी। अनीस ने दोस्ती यारी मे बंदुके भिजवा दी, बादमे उनही बंदुके के कारण संजय दत्त की ‘टाड़ा केस’ मे गिरफ्तारी हुई और 5 साल जेल मे रहना पड़ा। दाऊद को इस बारे मे पता नहीं था, उसे जब इस बारे मे पता चला तब कहा जाता हे उसने अनीस की खूब पिटाई भी की थी।

डी कंपनी का आदमी था, इरफान गोगा… इरफान मुंबई का ही था, पर बादमे वो भी दुबई शिफ्ट हो गया था। कंपनीमे गोगा और उसका दोस्त सलीम कुत्ता का था डांस बारसे पैसा वसूलना पर 95 वे आते आते उसने डी कंपनीसे किनारा कर लिया और खुद की चलाने लगा। एक दिन जुआ खेलने के बहाने शरद शेट्टी उसे बुला लीआ जाता हे और उस दिन के बाद ना किसिने फिरसे गोगा को देखा। इरफान गोगा की पत्नी की माने तो इस सभी के पीछे अनीस इब्रहीम का दिमाग था। कुछ महीनो बाद जब शरद शेट्टी को मारा जाता हे, तब पुलिस शेट्टी के घर मे एक कंकाल को पाती हे। वो कंकाल था, इरफान गोगा का … ऐसा हे अनीस का दिमाग…’

“एक और बात मे अंडरवर्ल्डमे फेमस हे :- इरफान की बीवी ‘लैली’ बहोत ही ज्यादा खूबसूरत बार डांसर थी और छोटा शकील और सावत्या की भी उसपर नजर थी। पर फिर भी उसने इरफान को चुना”

वैसे तो छोटा राजन ही कंपनी मे नंबर 2 की हैसियत रखता था पर 1993 मे राजन ने दाऊद से किनारा कर लीआ। अनीस और नगमा के संबंधो के बारे मे अनेकों बाते कही जाती हे। 93वे के मुंबई हादसो मे अनीस का काफी बड़ा हाथ था, और इस हादसे को अंजाम देने की ज़िम्मेदारी कहाँ जाता हे अनीस के कंधो पर ही थी। आज डी कंपनी मे छोटा शकील और अनीस के बीच मे सत्ता की रेस चल रही हे। आप क्या सोचते हे ? कोण हो सकता हे दाऊद का वारिस अनीस या शकील  ? कमेन्ट मे जरूर बताए।

Exit mobile version