Categories: Hindu Warriors

येसाजी कंक- हाथी को रोंदने वाला मराठा |Yesaji Kank Warrior Who Defeated Elephant

[येसाजी कंक– हाथी को रोंदने वाला मराठा |Yesaji Kank Warrior Who Defeated Elephant] हिंदवी स्वराज्य… शेर और हाथी जैसे महान योद्धाओ कि समशेर के बुते खडा रहा था.. इन वीरोने अपने खूनसे सिंचकर इस महान साम्राज्य को जन्म दिया था. आज के लेख में हम बात करेंगे हिंदवी स्वराज्य के एक हाथी जैसे इन्सान की जिसके सामने हाथी भी टिक नहीं पाया था… आज का लेख महान योद्धा येसाजी कंक ने नाम…

नमस्कार मित्रो स्वागत हे आपका मिथक टीवी कि official website मे. जिसतरह आपने हमे युट्युबपर प्यार दिया उसी तरह website को भी दे

शिवाजी महाराज कि भागनगर यात्रा

साल था, १६७६,
छत्रपति शिवाजी महाराज दक्षिण में बसी आदिलशाही को एक सबक सिखाना चाहते थे, और इसी कारन वे गोवलकोंडा के क़ुतुबशाह से मिलने जा रहे थे. भागानगर पुहचने पर कुतुबशाह ने शिवाजी महाराज का अच्छा स्वागत किया और ख़ास उनके लिए एक जलसे का आयोजन किया

इस जलसे में, मराठा सेना और क़ुतुबशाह की सेना दोनों ने अपने युद्धकरतब दिखाए… गोवलकोंडा की सेना में बड़ेबड़े हाथी थे … इसके विपरीत मराठा सेना फुर्ती और तेजीसे और साथ ही दुर्गम इलाको में युद्ध लड़ती थी, और हाथी जैसे जानवर सेना को काफी धीमा कर देते थे… इस कारन मराठा सेना में कोई हाथी न था…

जब क़ुतुबशाह ने ये देखा तो वो विस्मय से बोला ” महाराज, आप की सेना में हाथी क्यों नहीं हे”
तब मुस्कुराते हुए शिवाजी महाराजने कहा “शाह, यक़ीनन मेरी फ़ौज में हाथी नहीं हे… पर मेरी फ़ौज में हाथी के बराबर तकाद रखनेवाले योद्धा हे”

येसाजी कंक और हाथी (Yesaji Kank And Elephant)

छत्रपती शिवाजी महाराज कि बात तो सही थी. कुतुबशाह को भी ये जाहीर तौर पर पता था, कि स्वराज्य हा हर वीर हजार हाथियो का हौसला रखता हे. पर शिवाजी महाराज के जवाब के आगे
भागानगर का क़ुतुबशाह भी हार माननेवाला नहीं था… वो भी झट से बोल पडा …” तो मेरे हाथी और आपके हाथी जैसे इन्सान में एक मुकाबला हो जाए”

छत्रपति शिवाजी महाराज ने हंसकर अपने सैनिको की तरफ देखा.
अगले ही पल, मैदान में… एक बड़ा हाथी चीत्कार रहा था …. उस हाथी के सामने एक कसी हुयी कदकाठी का योद्धा तलवार के साथ खड़ा था …. नाम था येसाजी(Yesaji) … येसाजी कंक(Yesaji Kank)… महान येसाजी कंक !!

कुतुबशाही हाथी येसाजी की तरफ बढ़ा … भागा … अब येसाजी और हाथी मे बस एक लम्हे का फासला था, हातही येसाजी को रगडणे के लिये आगे बढा पर येसाजी(Yesaji Kank) ने हाथी को चकमा दिया और बिजली कि गती से उसके पैर पर समशेर का एक घाव किया …. हाथी के पैरसे लहू कि चिंगारी निकल पडी. हाथी अब तिलमिला उठा था … वो येसाजी को रोंद देना चाहता था, कैसे एक इन्सान कुतुबशाही के सबसे बलवान गज को चुनौती दे रहा था.

अब की बार हाथी चुकने वाला नहीं था, वो हर हालत मे सामनेवाले इन्सान को जिंदा छोडणे नही वाला था … हाथी ने येसाजी को अपनी सुन्द में पकड़ लिया … पूरा की पूरा मैदान की धड़कने तेज हो चुकी थी …. येसाजी(Yesaji Kank) की मौत अब कुछ पलो की मोहताज थी.. और …

हाथी ने गेंद कि तरह येसाजी को हवा में फेंका … मराठा सैनिको ने आंखे बंद करली … पर बंद आंख खुलणे से पहले कुतुबशाही हाथी कि चित्कार… दर्दभरी चित्कार से आंखे खोले
हवा में फेके येसाजी(Yesaji Kank) ने हवा से भी तेजी से हवा सेही हाथी की सुन्द पर सटीक वार किये थे, और हाथी की सुन्द काट डाली थी….
और दर्द से कराहता हाथी, मराठा हौसलों के आगे पस्त पड़ा था…

हिन्दवी स्वराज्य के हाथी ने … कुतुबशाही हाथी को मार गिराया था …. धन्य-धन्य थे येसाजी कंक (Yesaji Kank)!!

कुतुबशाह ने शिवाजी महाराज के वाक्य को बस एक मुहावरा समझा था. पर उसने देख भी लिया हाथी जैसा जिगर रखने वाले मराठा ने उसके गजश्रेष्ठ को मार गिराया था. कुतुबशाह ने येसाजी (Yesaji Kank) को उपहार देने की कोशिश की तो इस मानी योद्धा ने वो ये कहकर मन कर दिया की स्वराज्य के अधिपति के सिवा वो किसी का उपहार नहीं लेते.

… हिन्दवी स्वराज्य के इस वीर को मिथक टीवी का प्रणाम, अगर आपको ये लेख पसंद आया हो… तो अपने परिजनोंसे इसे जरुर share करे.. और साठी ही कमेन्ट करे…

Mythak

Recent Posts

क्यों महारथी कर्ण महाभारत का सबसे महान व्यक्ति था ?

महारथी कर्ण के प्रती हमारा प्रेम जाहीर हे, और इस प्रेम का कारण हे महारथी…

1 year ago

Sacred Games 2 : एपिसोड के नामो कि Intersting कहानिया

सेक्रेड गेम्स का दूसरा सीजन launch हो चूका हे, पर पहले सीजन के मुकाबले इस…

2 years ago

क्या हे बलुच लोगो का इतिहास और उनकी कहाणी ??

क्या हे बलुचिस्तान?? कोण हे बलुच? पाकिस्तान के पूर्व मे ईरान अफगानिस्तान और पाकिस्तान इन…

2 years ago

धर्मरक्षक संभाजी महाराज का इतिहास | Chhatrapati Sambhaji Maharaj History in Hindi

धर्मरक्षक छत्रपती संभाजी महाराज महाराष्ट्र के महान राजा छत्रपती शिवाजी महाराज कि ही तहर शेर…

2 years ago

पृथ्वी वल्लभ कि संपूर्ण कहाणी | Prithvi Vallabha Real Story

पृथ्वी वल्लभ क्या हे ? पृथ्वी वल्लभ कौन है ? (Who is Prithvi Vallabha) पृथ्वी…

2 years ago

श्रीराम और महादेव का युद्ध ! Rama Vs Mahadeva Battle

(Shrirama Vs Mahadeva Battle) रामायण की कथा के बारे में शायद ही कोई नहीं जानता…

2 years ago