क्या हे बलुच लोगो का इतिहास और उनकी कहाणी ??

क्या हे बलुचिस्तान?? कोण हे बलुच?

पाकिस्तान के पूर्व मे ईरान अफगानिस्तान और पाकिस्तान इन तिन देशो के बिच बटा हुवा हे एक गुमनाम देश! जो आज इन देशो के बीच सिर्फ एक नाम बनकर रह चुका हे… बलूचिस्तान.!! बलुचिस्तान का सबसे बडा हिस्सा आज पाकिस्तान मे हे. और पाकिस्तान का भी सबसे बडा राज्य हे बलुचिस्तान.

पर बडा राज्य और संसाधानो से भरा होणे के बाद भी बलुचिस्तान को क्या मिला? तो  अगनित अन्याय, अपार हिंसा !! यहा के लोगो को दबाने का कुचलणे का हर प्रयास किया गया पर इन सब के होते हुए भी यहाँ रहने वाले लोगो के दिलो में आज भी अपना देश बलूचिस्तान जिंदा हे. ये कहानी हे हड़प्पा, मोहनजोदड़ो से भी प्राचीन शहर मेहरगड की भूमि बलूचिस्तान की.

” सालभर पहले हमने युट्युबपर “बलूचिस्तान के मराठे” एपिसोड बनाया था. आज इस एपिसोड को यूट्यूब और फेसबुकपर १० लाखसे भी ज्यादा लोग देख चुके हे. इस एपिसोड के बाद बहोतसे बलूच भाइयो ने हमसे कमेंट्स और E-मेल से संपर्क किया और बताया की पाकिस्तान कैसे बलूच movement को बन्दुक की ताकद के जरिये दबा रहा हे. उन्होंने हमसे ये अपील की “की हम उनकी आवाज भारतीय भाइयो तक पुहचाये” आज का लेख इन्ही बलूच भाईयो के नाम. “

“आप जिस लेख को पढ रहे हे उसपर युट्युब विडीयो पहले ही बन चुका हे, और अनेको बडे बडे बलुची Pages ने Facebook पर इस विडीयो को डाला हुवा हे.”

बलुचिस्तान भूगोल से इतिहास तक:-

आज बलूचिस्तान ईरान, अफगानिस्तान और पाकिस्तान इन तीनो देशो बटा हुवा हे. पर इसकी लगभग ७०% भूमी पाकिस्तान में हे. और कुल पाकिस्तानी Area से बलूच भूमि की तुलना करे तो Baluchistan पाकिस्तान का ४०% से भी ज्यादा Area constitute करता हे. पर फिर भी आज यहाँ के मूल निवासी बलोच और पश्तून सामान्य सुविधाओ से वंचित हे और काफी कष्ट में जि रहे हे.

Azad Kashmir and Gilgit Baltistan is Integral Part Of India But Now Are in Control Of Pakistan

कहानी की शुरवात होती हे, जब अखंड भारत पर अंग्रेजो ने अपनी हुकूमत जमा ली थी.
बलूचिस्तान में तब ४ रियासते थी, मकरान, खरान, लास बेला, और कलात की खंनाते. जब १९४७ में भारत और पाकिस्तान का विभाजन हुवा वैसे तो ये रियासते स्वतंत्र बलूचिस्तान का निर्माण करना चाहती थी पर तब पाकिस्तान के मोहम्मद जीना ने इन चारो रियासतों को पाकिस्तान में मिलने के लिए जबरदस्ती मजबूर कर दिया.

बलूचिस्तान के लोगो ने इसका विरोध किया, और पाकिस्तान के विरोध मे १९४८ से ही बलूचिस्तान में एक Armed movement शुरू हो गया था. शुरवात में इनकी एक साधारण मांग थी की उन्हें पाकिस्तान के अंतर्गत स्वायत्तता दी जाए. उन्हे अपना समझ कर उनका शोषण न किया जाय ..!!
पर क्यों… पाकिस्तान ने उन्हें अंतर्गत स्वायत्तता नहीं दी…. कारन हे लालच..!!!

Indian Map 1946

संसाधानो से भरा बलुचिस्तान

भौगोलिक दृष्टि देखा जाए पर्यावरण ने बलूचिस्तान को भर भर कर दिया हे, रेगिस्तान और पहाड़ो से भरे बलूचिस्तान में नेचुरल गैस के बड़े-बड़े भंडार हे, साथ ही ये मिनरल resources से भरा पड़ा हे.

पर बिच रास्ते में पेट्रोल के पलटी हुए टैंकर पर बिना अकल का इस्तमाल किये सेकड़ो की संख्या में टूटपड़ने वाले लालची लोगो से हम कैसे उम्मीद कर सकते हे की वो किसी राज्य को स्वायत्तता दे. जिन्होंने खुद जनतंत्र का गला घोट दिया और ७० सालो में एकबार भी चुनी हुयी सरकार को चलने नहीं दिया, जिन्होंने अपने महान नायक खान अब्दुल गफार खान को सालो तक बंदी बनाये रख्खा था क्योकि वो पश्तून लोगो की भलाई की बात करते थे. वो कैसे किसी को अपना शासन चलाने का अधिकार दे सकते थे.

बलुचिस्तान का स्वतंत्रता संग्राम

१९४८ में शुरू हुवा ये संघर्ष थोड़े थोड़े विरामो के साथ और पाकिस्तानी सेना की क्रूरता के जवाब के साथ चलता रहा १९५८-५९, १९६२-६३, में भी काफी बड़े पैमाने पर बलूचिस्तान की मांग सामने आई. पर १९७३-७४ पाकिस्तानी सेना और ISI ने क्रूरता की सारी हदे पार कर दी, इस आन्दोलन को बड़ी क्रूरता से तोड़ दिया गया, उदहारण के तौर पर कोई छोटासा भी नेतृत्व उभरता दीखता हो तो ISI उसका एक तो अपहरण कर लेती थी या उसे मार देती थी लगभग ३० सालो तक पाकिस्तान ने इस आन्दोलन को दबाये रख्खा. बलूची नेताओ के सरेआम क़त्ल किये जाते थे, कइयो का अपहरण कर उन्हें मार दिया जाता था, पाकिस्तान में मानवाधिकार और इसके हनन की बात करना एक तरह का गुनाह होगा. अपने गुमनाम पिता, भाई, शौहर, बेटे के लिए बलूचिस्तान के लोगो ने कई बार क्वेट्टा से इस्लामाबाद पैदल यात्राये की हे.

पाकिस्तान ने हर तरह की कोशिश की बलूचियो का हौसला तोड़ने की पर बलूचिस्तान तो लोगो के दिलो में १९४८ को ही बन चूका था, २००४ में फिर एक बार शुरवात होती हे आजाद बलूचिस्तान movement की.

अंतराष्ट्रीय मंच पर : अकबर बुगटी

२००४ में अकबर बुगटी नाम का नेता बलूचिस्तान को मिला जिसने फिर एकबार बलूचिस्तान के प्रश्न दुनिया के सामने रख्खे, २००५ में उन्होंने पाकिस्तान के सामने १५ मुद्दे उपस्थित किये जो बलोच लोगो के भले की बात करते थे, पाकिस्तान ने इसपर सेना के हमले से उत्तर दिया. दोनों तरफ से झडपे होने लगी बहादुर बलोचोने एकबार तो पाकिस्तानी सेना के डेपुटी का हेलीकाप्टर गिरा दिया था, पर दुर्भाग्य से २६ अगस्त २००६ में अकबर बुगटी एक गुफा के अन्दर बैठे थे, तब पाकिस्तान ने एक Powerfull बम को वहा फेका, जिस कारन गुफा का पूरा ढांचा ढह गया और एक महान बलूची नेता उसके निचे आकर मारा गया. पाकिस्तान ने सार्वजनिक तौर पर उनका विधि तक नहीं होने दिया सेना ने डेरा बुगटी में उन्हें दफनाया, बहोतसे लोग ये कहते हे की जिसे दफनाया गया था वे अकबर बुगटी थे ही नहीं. और वे ये भी कहते हे पाकिस्तानी सेना ने मरने के बाद भी उनके साथ अमानवीय काम किया थे.

Baloch Leader Akabar Bugari

बलूचिस्तान की लड़ाई अब भी जारी हे, अकबर बुगटी के नाती ब्रम्ह्दाह बुगटी ने अब इस आन्दोलन को अपने कंधो पर लिया हे. पाकिस्तान ने उन्हें भी मारने की कोशिश की तब वे england भाग गये. २००९ में कलाते के खानाते के शासक मीर सुलेमान दौद ने बलूचिस्तान को स्वतंत्र घोषित किया है. मीर सुलेमान अब वेल्स में निर्वासित हे. भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बलूचिस्तान के प्रति आस्था व्यक्ति की हे. ब्रम्ह्दाह बुगटी ने भी हमारे प्रधानमंत्री को धन्यवाद कहा हे.

माना की बलूचिस्तान आज अपनी स्वतंत्रता के लिए लगभग ७० सालो से झगड़ रहा हे. बलूचिस्तान की आजादी की लड़ाई मे भारत के लोग आपके साथ हे. कश्मीर से ३७० हटने के बाद हमारे बलूच भाइयोके मनमें शायद फिरसे अपने अस्तित्व की आस जगी हे. आप का क्या मानना हे हमें कमेन्ट में जरुर बताये.

Mythak

Recent Posts

क्यों महारथी कर्ण महाभारत का सबसे महान व्यक्ति था ?

महारथी कर्ण के प्रती हमारा प्रेम जाहीर हे, और इस प्रेम का कारण हे महारथी…

1 year ago

येसाजी कंक- हाथी को रोंदने वाला मराठा |Yesaji Kank Warrior Who Defeated Elephant

[येसाजी कंक- हाथी को रोंदने वाला मराठा |Yesaji Kank Warrior Who Defeated Elephant] हिंदवी स्वराज्य...…

2 years ago

Sacred Games 2 : एपिसोड के नामो कि Intersting कहानिया

सेक्रेड गेम्स का दूसरा सीजन launch हो चूका हे, पर पहले सीजन के मुकाबले इस…

2 years ago

धर्मरक्षक संभाजी महाराज का इतिहास | Chhatrapati Sambhaji Maharaj History in Hindi

धर्मरक्षक छत्रपती संभाजी महाराज महाराष्ट्र के महान राजा छत्रपती शिवाजी महाराज कि ही तहर शेर…

2 years ago

पृथ्वी वल्लभ कि संपूर्ण कहाणी | Prithvi Vallabha Real Story

पृथ्वी वल्लभ क्या हे ? पृथ्वी वल्लभ कौन है ? (Who is Prithvi Vallabha) पृथ्वी…

2 years ago

श्रीराम और महादेव का युद्ध ! Rama Vs Mahadeva Battle

(Shrirama Vs Mahadeva Battle) रामायण की कथा के बारे में शायद ही कोई नहीं जानता…

2 years ago